मांग लूँ यह मन्नत की फिर यही जहाँ मिले
फिर वही गोद फिर वही माँ मिले

भूख तो एक रोटी से भी मिट जाती माँ
अगर थाली की वो एक रोटी तेरे हाथ की होती

माँ को लिये क्या लिखूं दोस्तों
माँ ने मुझे खुद लिखा है

jab tk meri maa hai muje koi dr nhi hai dosto
kyunki m jb ghr se niklta hu to uski dua bhi mere sath chalti hai

मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत है
मेरी माँ की बदौलत है
ऐ मेरे भगवान और क्या देगा तु मुझे
मेरी माँ ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है

कौन कहता है के आसमाँ का अन्त नही होता है
देख लो आ से शुरू आखिर माँ पे खत्म होता है

दरवाज़े पे जब लिखा हमने नाम अपनी माँ का,
मुसीबत ने दरवाज़े पे आना छोड़ दिया..!!

kisi k hisse me ghar aaya,
kisi k dukaan aayi,
Mai ghar me sabse chota tha mere hisse me MAA aayi.
love u MOM #reys

शरत लगी थी जब पूरी दुनिया को एक ही शब्द मे लीखने की
तो वो पुरी कीताबे ढुंढ रहे थे और मैने मां लिख दिया

जिस दिन मेरी माँ सलामती की दुआ करती है...
उस दिन सिगरेट भी जेब में टूट जाती है...
=RPS

मांग लूँ यह मन्नत की फिर यही जहाँ मिले
फिर वही गोद फिर वही माँ मिले
Happy mothers day

माँ ने अपने दर्द भरे खत में लिखा था
सड़के पक्की है अब तो गाँव आया कर

पूछता है जब कोई मुझसे कि दुनिया में अब मोहब्बत बची है कहाँ
मुस्कुरा देता हूँ मैं और याद आ जाती है माँ

तेरी मोहब्बत से लेकर तेरे अलविदा कहने तक
मेंने सिर्फ तुजे चाहा है तुजसे कुछ नहीं चाहा

चखे हैं ना जाने कितने जायके महंगे मगर ऐ माँ
तेरी चुल्हे की रोटी सारे पकवानो पे भारी है..!!!