लोग मौत को तो युही बदनाम करते है,
तकलीफ़ तो जिन्द्गी देती है !
=RPS

Kisi se kabhi koi umeed mat rakhna
Kyu ki umeed humesha dard deti hain

आदत नहीं हमे पीठ पीछे वार करने की
दो शब्द कम बोलते हैं पर सामने बोलते हैं

वाह रे जिंदगी भरोसा तेरा एक पल का नहीं
और नखरे तेरे मौत से भी जयादा

इंसान को इंसान धोखा नहीं देता है
बल्कि वो उम्मीदें धोखा दे जाती हैं जो वो दूसरों से रखता है

अपने माथे पे ये बिंदिया की चमक रहने दो
ये सितारा मुझे मंज़िल के पता देता है

दोस्त तुम पत्थर भी मारोगे तो भर लेंगे झोली अपनी,
क्योंकि हम यारों के तोहफ़े ठुकराया नहीं करते !! Er kasz

सदा उनके कर्जदार रहिए जो आपके लिए
कभी खुद का वक्त नहीं देखते

एक सुकून की तलाश मे जाने कितनी बेचैनियां पाल ली,
और लोग कहते है हम बडे हो गए हमने जिंदगी संभाल ली.

बहुत भीड़ थी उस बुज़ुर्ग के जनाज़े में
कोई बड़ा पेड़ गिरने पर जैसे परिंदे निकल आते हैं

जिन्दगी की उलझनों ने कम कर दी हमारी शरारते
और लोग समझते हैं कि हम समझदार हो गये
er kasz

Dunia me agar asan hai kisi ko khush rakhna to
vo bas tuhmari apni maa hai

हम ना बदलेंगे वक्त की रफ्तार के साथ,
हम जब भी मिलेंगे अंदाज पुराना होगा.

महाकाल के बेटे हैं इसलिए चुप बैठे है
वरना हमसे जो ऐठे है वो शमशान में लेटे है
er kasz

मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीक़ा
चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना