ये जो डूबी हैं मेरी आँखें अश्कों के दरिया में
ये मिट्टी के पुतलों पर भरोसे की सजा है

दुश्मनी में भी दोस्ती का सिलसिला रहने दिया
उसके सारे खत जलाए और पता रहने दिया

शीशे के घरों में देखो तो पत्थर दिल वाले बसते हैं
जो प्यार को खेल समझते हैं और तोड़ के दिल को हँसते हैं

जिस्म से होने वाली मोहब्बत का इजहार आसान होता है
रुह से हुई मोहब्बत को समझाने में जिंदगी गुजर जाती है

कदर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत रखते हैं ,
वरना दुनिया मे ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने बाले ज्यादा होते हैं ।
=RPS

tum mujhe tut k chahoge choad jaoge
mujhe malum hai tumhe yeh kla bhi aati hai

Aaj bhi isi soch mein gum hai ungliyaan meri
Ke Naya haath usne thama kaise hoga

दिल भी आज मुझे ये कह कर डरा रहा है
करो याद उसे वरना मै भी धडकना छोड़ दूंगा

मंज़िलों से गुमराह भी ,कर देते हैं कुछ लोग ।।
हर किसी से रास्ता पूछना अच्छा नहीं होता !!Er kasz

आज किसी ने ये बात कहके दिल मेरा तोड़ दिया
की तू इतराना छोड़ दे लोग तेरे नहीं तेरी शायरी के दीवाने है

Dilasa Dete Hain Log, Ki Yun Har Waqt Na Roya Karo
Main Kaise Bataun Ki Kuch Dard Sehne Ke Qabil Nahi Hote

मिल सके आसानी से उसकी ख्वाहिश किसे है
ज़िद तो उसकी है जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं
G.R..s

उस्ताद ए इश्क सच कहा तूने बहुत नालायक हूँ मै
मुद्दत से इक शख्स को अपना बनाना नही आया

मोहब्बत यूँ ही किसी से हुआ नहीं करती
अपना वजूद भूलाना पडता है किसी को अपना बनाने के लिए

वो मुझसे दूर रहकर अगर खुश है तो खूश रहने दो उसे
मुझे वैसे भी उसकी चाहत से ज़्यादा मुस्कुराहटपसंद है
er kasz