मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,
कभी बात करने की हसरत
कभी देखने की तमन्ना...❗❗

Khud hi de jaoge to behtar hai
Warna hum dil chura bhi lete hain

Shaadi ko to logo ne aise hi badnam Kia hua hai
Taklif to ladkiya deti h

Meri tanhayi ko mera shoq mat samajhna
Bohat pyar se diya hai yeh tohfa kisi ne

मौत से ज्यादा वफादार नहीं कोई
आएगी एक दिन और सदा के लिए

भरोसा जितना कीमती होता है...
धोखा उतना ही महंगा हो जाता है...Er kasz

वो भी जिन्दा है मै भी जिन्दा हूँ
कत्ल तो सिर्फ इश्क का हुआ है

कब तक भूगतूँ मै अब सज़ा तेरी
एइश्क गलती हो गई बस माफ़ कर अब मुझे

शेरों को कहना नया शिकारी आया हैं
या तो हुकूमत छोड़ दे या जीना

आँधियों ने लाख बढ़ाया हौसला धूल का
दो बूँद बारिश ने औकात बता दी

हम हैं तुम्हारे तबस्सुम के मालिक
खबरदार जो देखा कहीं और हंस के

इतना दर्द तो मोत भी नहीं देती है
जितना तेरी ख़ामोशी ने दिया है…

खामोशी भी बहुत कुछ कहती है.
पर कान नहीं दिल लगाकर सुन्ना पड़ता है..

लोग मुझसे मेरी उदासी की वजह पूछते है
इजाजत हो तो तेरा नाम बता दूँ...??

अपने उसूल कभी यूँ भी तोड़ने पड़े खता उसकी थी
हाथ मुझे जोड़ने पड़े