मतलबी लोग भी, रिश्ते भी और मुहब्बत भी
करना चाहें भी तो किस तरह भरोसा कर लें

टूटता हुआ तारा सबकी दुआ पूरी करता है..
क्यों के उसे टूटने का दर्द मालूम होता है….!
गुड नाईट

ऐसे मत देख पगली ÐiL हार जाएगी
बस अब और मत देख वरना Mummy से मार खाएगी

कैसी बातें करते हो साहब मैं लफ़्ज़ों से भी ना खेलूँ
ज़माना तो दिलों से खेलता है

याद आयेगी मेरी तो बीते कल को पलट लेना
यूँ ही किसी पन्ने में मुस्कुराता हुआ मिल जाऊंगा

SuN pagli वो तो बस ÐiL की ख्वाहिश थी तू
वरना मेरे शौक तो आज भी तेरी औकात से बङे हैं

समझदार आदमी से की गयी कुछ मिनिट की बात
हज़ारो किताबे पढ़ने से कही बेहतर होती है

माना कि जीत की आदत है मग़र
रिश्तों में हार जाना बेहतर होता है

हमे दुवाए दिल से मिली है
कभी खरीदने को जेब में हाथ नही डाला

कभी ऐसा भी हो के हम सोचे तुम्हें
और तुम अचानक आकर हमें अपनी बाहों में भर लो

एक बार खुदा की होकर तो देख
फिर जानेगी तू अपना हुनर ...!!!

मुझे कहनी है तुमसे इक बात
दास्तान लबो से सुनोगे या निगाहो से

वो मतलब से मिलते थे और हमे तो बस मिलने से मतलब था !!!

करोडो की दुआ ऐक रूपए में दे गया
पता नही चलतागरीब वोह था या में

मै उन्हे बदला हुआ दिखता हुँ
कभी वो खुद को भी तो देखे