जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए; हर राह आसान हो जायेगी; बस उसे करने के लिए दृढ़-संकल्प चाहिये। सुप्रभात!

भुला दो बीता हुआ कल; दिल में बसाओ आने वाला कल; हँसो और हँसाओ चाहे जो भी हो पल; खुशियाँ लेकर आयेगा ये आने वाला कल। सुप्रभात।

अपने गम की नुमाइश न कर; अपने नसीब की अजमाइश न कर; जो तेरा है तेरे पास खुद आएगा; हर रोज़ उसे पाने की ख्वाहिश न कर। सुप्रभात।

चाय के कप से उठे धुएं में तेरी शक्ल नज़र आती है
तेरे ख्यालों में खोकर अक्सर मेरी चाय ठंडी हो जाती है

हे प्रभु! दोनों हाथ जोड़ कर आपसे विनती है कि उन्हें खुश रखना जो मुझे याद करते हैं।

सुबह की किरण बोली मुझसे उठकर देखो कितना हसीन नज़ारा है; मैंने कहा रुक पहले उसे SMS तो कर लूँ जो इस सुबह से भी प्यारा है। गुड मॉर्निंग!

सूरज की पहली किरण ख़ुशी दे आपको; दूसरी किरण हँसी दे आपको; तीसरी तंदरुस्ती और कामयाबी; बस अब ज्यादा नहीं वरना गर्मी लगेगी आपको। सुप्रभात!

सूरज के बिना सुबह नहीं होती; चाँद के बिना रात नहीं होती; बादल के बिना बरसात नहीं होती; आपकी याद के बिना दिन की शुरुआत नहीं होती। सुप्रभात!

फूलों की वादियों में हो बसेरा आपका; सितारों के आँगन में हो सवेरा आपका; दुआ है एक दोस्त की दोस्त के लिए; सबसे खूबसूरत हो सवेरा आपका! सुप्रभात!

जिंदगी में कभी किसी बुरे दिन से सामना हो जाए
तो इतना हौसला ज़रूर रखना कि दिन बुरा था, जिंदगी नहीं
सुप्रभात

हँसना और हँसाना कोशिश है मेरी; हर कोई खुश रहे यह चाहत है मेरी; भले ही कोई मुझे याद करे या ना करे; हर अपने को याद करना आदत है मेरी। सुप्रभात!

लबों पर मुस्कान आँखों में ख़ुशी; गम का कहीं नाम ना हो; हर दिन लाए आपके लिए इतनी ख़ुशियाँ; जिसके ढलने की कोई शाम ना हो। सुप्रभात!

मंजिल मिले ना मिले ये तो मुकद्दर की बात है; हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है। सुप्रभात!

ये राहें ले ही जाएंगी मंज़िल तक हौंसला रख; कभी सुना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दिया हो। सुप्रभात!

उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको; खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको; हम तो कुछ भी देने के काबिल नहीं; देनेवाला हज़ार खुशियां दे आपको। सुप्रभात!