छोड़ दिया सबको बिना वजह तंग करना
जब कोई अपना समझता ही नही
तो उस को अपनी याद दिला कर क्या करना

जो लोग एक तरफा प्यार करते है अपनी ज़िन्दगी को खुद बर्बाद करते है
नहीं मिलता बिना नसीब के कुछ भी फिर भी लोग खुद पर अत्याचार करते है

इनकार किया जिन्होंने मेरा समय देखकर
वादा है ऐसा समय लाऊंगा की मुझसे मिलने का भी समय लेना पड़ेगा उन्हें

हथियार तो सिर्फ शौक के लिए रखा करते है
वरना किसी के मन में खौंफ पेदा करने के लिए तो बस नाम ही काफी हे

इज़्ज़त हमेशा इज़्ज़तदार लोग ही करते है
जिनके पास खुद इज़्ज़त नहीं वो किसी दूसरे को क्या इज़्ज़त देगे

जैसे पूनम की रात में चांद बदल जाता है
जैसे वक्त के साथ इन्सान बदल जाता है
हम सोचते हैं की आपको तंग ना करें
मगर सोचते-सोचते ख्याल बदल जाता है

ना छोड़ना मेरा साथ ज़िन्दगी में कभी
शायद मैं ज़िंदा हूँ तेरे साथ की वजह से

दिखावे की दोस्ती तो जमाने को हैं हमसे पर
ये दिल तो वहाँ बिकेगा जहाँ मेरे ज़ज्बातो की कदर होगी

देख बेबी पोस्ट मेरी अच्छी है सोच मेरी सच्ची है
लेकिन मैं तुझे अभी भी पसंद नहीं आया तो sweet heart तू अभी बच्ची है

करेगा जमाना कदर हमारी भी एक दिन देख
लेना...
बस जरा ये भलाई की बुरी आदत छुट जाने दो...

कोई ना मिला ऐसा जिस पे दुनिया लुटा देते सबने धोखा दिया किस किस को भुला देते
अपना गम अगर हमने ब्यान किया होता तो कसम से पूरी महफ़िल को रुला देते

अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तहा
तो हम तुमसे नही तुम हमसे मोहब्बत करते

किसी के लिये किसी की अहमियत खास होती है
एक के दिल की चाबी हमेशा दूसरे के पास होती है

हथियार चाहे तलवार हो या तमंचा बाजार में मिलते है
मगर उसे चलाने का जिगर दुनिया के किसी भी बाजार में नहीं मिलता

सूखे पत्तों की तरह बिखरे थे हम।
किसी ने समेटा भी तो सिर्फ जलाने के लिए।