किसी ने कहा आपकी आँखे बडी प्यारी लग रही हैं
तो हमने कहा की बरसात के बाद ही मौसम अच्छा लगता हैं

प्यार में मेरे सब्र का इम्तेहान तो देखो
वो मेरी ही बाँहों में सो गए किसी और के लिए रोते रोते

वो हमारे नही ते क्या गम है हम तो उन्ही के हे ये क्या कम है
ना गम कम है ना आँसू कम है देखते है रुलाने वाले मे कितना दम है

🍻🍺
बाप से पिटाई खाने के बाद
कसम ली थी कि
आज के बाद व्हिस्की, बियर,
वोद्का सब छोड़ दूंगा ! • • पर आज सुबह से ये मौसम... पिटवाने वाले काम कर रहा है !

इसे इत्तिफ़ाक़ समझो या मेरे दर्द की हकीक़त
आँखे जब भी नम हुई वजह तुम निकले

हम इस काबिल तो नही की कोई हमे अपना समजे
लेकिन इतना तो यकीन है की कोई रोयेगा बहोत हमे खो देने के बाद

वो रो रो कर कहती रही मुझे नफरत है तुमसे
मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है की अगर इतनी नफरत ही थी तो वो रोई क्यों

हम हवा नही जो खो जाएँगे वक़्त नही जो गुज़र जाएँगे
हम मौसम नही जो बदल जाएँगे हम तो आँसू है जो खुशी और गम दोनो मे साथ निभाएँगे

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता.
इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता...
ऐ मालिक बारिश करने से पहले ये सोच तो लिया होता,
कि भीगा हुआ दिल किसी काम नहीं आता...
=RPS

उसे मैं ढाँप लेना चाहता हूँ अपनी पलकों में
ए खुदा उस के आने तक मेरी आँखों में दम रखना