हमारी बेखुदी का हाल वो पूछे अगर
तो कहना होश बस इतना है की तुमको याद करते है

दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है ज
हाँ एक हल्की सी मुस्कराहट और छोटी सी माफ़ी से ज़िन्दगी दोबारा पहले जैसी हो

कुछ हार गयी तकदीर कुछ टूट गए सपने..
कुछ गैरों ने बर्बाद किया कुछ छोड़ गए अपने

गर्दिश में सितारे होतें हैं! सब दूर किनारे होतें हैं! यूँ देख के यादों की लहरें! हम बैठ किनारे रोते हैं!

फूल शबनम में डूब जाते हैं; जख्म मरहम में डूब जाते हैं; जब आती है कभी याद तेरी; हम तेरे गम में डूब जाते हैं।

करोगे याद गुजरे जमाने को तरसोगे हमारे साथ एक पल बिताने को फिर आवाज़ दोगे हमे वापिस बुलाने को और हम कहेंगे दरवाजा नहीं है कबर से बाहर आने को!

ठान लिया था कि अब और नहीं लिखेंगे
पर अभी उसे देखा और अल्फ़ाज़ बग़ावत कर बैठे

मत पूछो शीशे से उसके टुट जाने की वजह
उसने भी किसी पत्थर को अपना समझा होगा

जितनी भीड़ बढ़ रही है जमाने में
लोग उतने ही अकेले होते जा रहे हैं

शेर खुद अपनी ताकत से राजा कहलाता है
जंगल में कभी चुनाव नही होते

हर एक चेहरा यहाँ पर गुलाल होता है
हमारे शहर मैं पत्थर भी लाल होता है

मेरे प्यार का असर तो देखो लोग मिलतें हैं मुझसे
और हाल तेरा पुछते हैं

रोने से अगर वो मिल जाये तो,
भगवान की कसम ईस धरती पे सावन की बरसात लगा दूँ..

उम्र भर के आंसू ज़िन्दगी भर का ग़म
मोहब्बत के बाज़ार में बहुत महंगे बिके हम

अगर मेरी शायरियो से बुरा लगे तो बता देना दोस्तों
में दर्द बाटने के लिए लिखता हु दर्द देने के लिए नही