मांग लूँ यह मन्नत की फिर यही जहाँ मिले
फिर वही गोद फिर वही माँ मिले
Happy mothers day 👪 !

आज लाखो रुपये बेकार है
वो एक रुपये के सामने
जो माँ स्कूल जाते वक्त देती थी.

एक अच्छी मां तो हर एक बेटे के पास होती है
लेकिन एक अच्छा बेटा हर एक मां के पास नही होता है

जन्म देती है, पालती है और बोलना सिखाती है जो औरत
ए दोस्त अफ़सोस तेरी गाली में भी उसका नाम होता है
Er kasz

हर पल मे खुशी देती है मा
अपनी ज़िंदगी से जीवन देती है मा
भगवान क्या है मा की पूजा करो जनाब
क्यूकी भगवान को भी जनम देती है मा

कोए फर्क नहीं पड़ता के थम जिम में कितने
Weight के सेट मारो सो ,
.
.
.
माँ नै जब भी मिलोगे तो न्यू ए कहगी
"कितणा माड़ा होग्या"

बचपन में माँ कहती है तुझे कुछ समझ नहीं आता
जवानी में बीवी कहती है आपको कुछ समझ नहीं आता
बुढ़ापे में बच्चे कहते है आपकोकुछ समझ नहीं आता
पुरुषों की समझने की उम्र कौन सी ये समज नहीं आता

आज बेटी नहीं बचाओगे तो कल माँ कहाँ से पाओगे

पलकों में पली साँसों में बसी माँ की आस है बेटी
हर पल मुस्काती गाती एक सुखद अहसास है बेटी
गहन अंधेरी रातों में जैसे भोर की उजली किरन है बेटी
सूने आँगन में खिली मासूम कली की सी मुस्कान है बेटी
मान अभिमान है बेटी दोनों कुलों की लाज है बेटी
दुख दर्द अंदर ही सहती एक खामोश आवाज़ है बेटी
तपित धरती पर सघन छाया सी शीतल हवा है बेटी
लक्ष्मी दुर्गा सरस्वती सी बुजुर्गो की पावनदुआ है बेटी
करते विदा जब डोली में तब पराई हो जाती है बेटी
उदास मन सूना आँगन फिर बहुत याद आती है बेटी

एक विवाहित बेटी का पत्र उसकी माँ के नाम
माँ तुम बहुत याद आती हो अब मेरी सुबह 6 बजे होती है और रात 12 बज जाती है तब
माँ तुम बहुत याद आती हो सबको गरम गरम परोसती हूँ और खुद ठंढा ही खा लेती हूँ तब
माँ तुम बहुत याद आती हो जब कोई बीमार पड़ता है तो एक पैर पर उसकी सेवा में लग जाती हूँ और जब मैं बीमार पड़ती हूँ तो खुद ही अपनी सेवा कर लेती हूँ तब
माँ तुम बहुत याद आती हो जब रात में सब सोते हैं बच्चों और पति को चादर ओढ़ाना नहीं भूलती और खुद को कोई चादर ओढाने वाला नहीं तब

माँ तुम बहुत याद आती हो सबकी जरुरत पूरी करते करते खुद को भूल जाती हूँ खुद से मिलने वाला कोई नहीं तब
माँ तुम बहुत याद आती हो यही कहानी हर लड़की की शायद शादी के बाद हो जाती है कहने को तो हर आदमी शादी से पहले कहता है माँ की याद तुम्हें आने न दूँगा पर फिर भी क्यों?
माँ तुम बहुत याद आती हो