छोड़ देंगे एक दिन तुमसे मोहब्बत करना यह वादा है मेरा; ज़रा ज़िंदगी का सांसों से रिश्ता तो टूटने दे। शुभ रात्रि!

प्यारे से दोस्त को सलाम हमारा; दिन कैसा रहा ये सवाल हमारा; कल फिर SMS भेजेंगे ये वादा हमारा; पर अभी गुड नाईट का प्यार सा पैगाम हमारा। शुभ रात्रि!

सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए; चाँद आया है आपको लोरी सुनाने के लिए; सो जाओ मीठे ख़्वाबों में आप; सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए। शुभ रात्रि!

सपने वह नहीं होते जो हम सोते वक्त देखते हैं; बल्कि सपने वो होते हैं जो हमें सोने नहीं देते। शुभ रात्रि!

एक दिन हम सब एक दूसरे को सिर्फ यह सोचकर खो देंगे कि जब वो मुझे याद नहीं करते तो मैं क्यों करूँ? शुभ रात्रि।

अँधेरी सड़क सुनसान कब्रिस्तान; सूनी हवेली काला आसमान बिजली कड़की आया तुफान; रात हो गई सो जा शैतान! शुभ रात्रि!

ईश्वर का संदेश: तुम सोने से पहले सबको माफ़ कर दिया करो; तुम्हारे जागने से पहले मैं तुम्हें माफ़ कर दूंगा। शुभ रात्रि।

हो मुबारक आपको यह सुहानी रात; मिले ख्वाबों में भी खुदा का साथ; खुले जब आपकी मदहोश आँखें; तो ढेरों खुशियाँ हो आपके साथ। शुभ रात्रि!

हम तुम्हें पाकर खोना नहीं चाहते; जुदाई में आपकी रोना नहीं चाहते; तुम हमारे ही रहना हमेशा; हम भी किसी और के होना नहीं चाहते। शुभ रात्रि!

दूर रहते हैं मगर दिल से दुआ करते हैं हम; प्यार का फ़र्ज़ दिल से अदा करते हैं हम; आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम; दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं हम। शुभ रात्रि!

तू जहाँ भी रहे वहाँ मेरी दुआओं की छाँव हो; वो शहर हो फिर चाहे गाँव हो; तेरी आँखों में कभी कोई गम ना हो; बस यही दुआ है हमारी कि तेरी खुशियां कभी कम ना हों। शुभ रात्रि!

आज फिर सोने लगे तो तुम याद आ गए; ना जाने तुम मेरी नींद हो या दिल की धड़कन। शुभ रात्रि!

तेरी पलकों में रहना है; रात भर के लिए जानेमन; मैं तो एक ख्वाब हूँ; सुबह होते ही चला जाऊँगा! शुभरात्रि!

लोग कहते हैं रातों को सोकर सुकून मिलता है; हम वो वक़्त भी किसी की यादों में बिता देते हैं। शुभ रात्रि!

दिल पे हमला हुआ और दिल टूट गया; कोई कहता है मनोबल छूट गया; सब के सब झूठे हैं साले; आँख खुली और हसीन सपना टूट गया। शुभ रात्रि!