रात जब किसी की याद सताए; हवा जब बालों को सहलाये; कर लो आँखे बंद और सो जाओ; क्या पता जिस का है ख्याल वो आँखों में आ जाये। शुभरात्रि!

रब तू अपना जलवा दिखा दे; उसकी जिंदगी को अपने नूर से सजा दे; बस मेरे दिल की इतनी सी दुआ है मालिक; इस SMS पढ़ने वाले को आज रात बेड से नीचे गिरा दे। शुभ रात्रि!

मुझे सुलाने की ख़ातिर जब रात आती है; हम सो नहीं पाते रात खुद सो जाती है; पूछने पर दिल से यह आवाज़ आती है; आज दोस्त को याद कर ले रात तो रोज आती है। शुभ रात्रि!

कुदरत के करिश्मों में अगर रात ना होती; ख्वाबों में भी उनसे मुलाक़ात ना होती; सो जाते हैं हम इसी आस में; कि आज नहीं तो कल कभी तो उनसे बात होगी। शुभ रात्रि!

मेरी हर रात में आपको याद होती है; चाँद तारों से रोज यही बात होती है; मेरे ख़्वाबों में बिलकुल न आना आप; क्योंकि डरावनी सूरत से हमारी नींद ख़राब होती है। शुभ रात्रि।

आपके बिछड़ने का गम हम चुपचाप सह लेंगे; आपकी जगह मेरे दिल में नहीं मेरी सांसो में है; खुदा जाने हमें नींद आएगी या नहीं; पर आप चैन से सो जाएं इसलिए आपको शुभ-रात्रि कहते हैं। शुभ रात्रि!

चलो सो जाते हैं अब किसी सच की तलाश में; रही सांसें तो सुबह फिर इस झूंठी दुनिया का दीदार करना है। शुभ रात्रि।

जीवन के हर मोड़ पर खुशियों को आने दो; जुबां पर हर वक्त मिठास को रहने दो; ना रहो उदास और ना किसी को रहनो दो। शुभ रात्रि!

अपनों के प्यार में दोस्तों की याद में; सलामत रहे ये ज़िंदगी हमारी; क़यामत हो ना हो; याद रहे सदा आप को हमारी। शुभ रात्रि!

चाँद के लिए सितारे अनेक हैं; लेकिन सितारों के लिए चाँद एक है; आपके लिए तो हज़ारों होंगे; लेकिन हमारे लिए आप ही एक हैं! शुभ रात्रि!

रब तू अपना जलवा दिखा दे; उनकी ज़िन्दगी को भी अपने नूर से सजा दे; रब मेरे दिल की ये दुआ है; मालिक मेरे दोस्त के सपने हकीक़त बना दे। शुभ रात्रि!

दिन भर की थकान अब मिटा लीजिये; हो चुकी है रात रोशनी बुझा लीजिये; एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है आपकी; बस पलकों का पर्दा गिरा लीजिये। गुड नाईट!

क्यों किसी के ख्यालों में खोया जाए; क्यों किसी की यादों में रोया जाए; इस दुनिया के झमेले में पड़ना है बेकार यारों; चलो जी भर के सोया जाए। गुड नाईट!

जन्नत के महलों में हो महल आपका; ख्वाबों की हसीन वादी में हो शहर आपका; सितारों के आँगन में हो घर आपका; दुआ है ऐसा खूबसूरत हो हर पल आपका। शुभ रात्रि!

रात को रात का तोहफा नहीं देते; फूल को फूल का तोहफा नहीं देते; देने को तो हम चाँद भी आपको दे सकते थे लेकिन; चाँद को चाँद का तोहफा नहीं देते। शुभ रात्रि!