ना जीने का शौक है मरने की तलब रखते हैं
दीवाने हैं हम दीवानगी गजब रखते हैं

डूबना है तो समुद्र में जा के डुबो; किनारों पर क्या रखा है; प्यार करना है तो बाहों में आ के करो; किनारों पर क्या रखा है।

वो अपनी गली की रानी होने का गरूर करती है...नादान!
ये नहीँ जानती कि हम उसी शहर के बादशाह है....
=RPS

बेशक तुम्हें गुस्सा करने का हक है मुझपे
पर नाराजगी मेँ ये मत भुल जाना की हम बहुत प्यार करते हैं तुमसे

प्यार के स्पर्श से हर कोई कवि बन जाता है।

जिंदा रहने के लिए तेरी कसम
एक मुलाकात जरूरी है सनम

जो उनकी आँखों से बयां होते है
वो लफ्ज़ किताबो में कहाँ होते है

​सच्चा प्रेम भूत की तरह है​ चर्चा उसकी सब करते हैं देखा किसी ने नहीं।

जो ना समझ है वो ही मोहब्बत करता है
वो मोहब्बत ही क्या जो समझ में आ जाए

रिश्ते अगर बढ़ जाये हद से तो ग़म मिलते है
इसलिए आजकल हम हर शख्स से कम मिलते है

मेरी बहादुरी के किस्से मशहुर थे शहर में
तुझे खो देने के डर ने कायर बना दिया

बुजदिल हें वो लोग जो मोहब्बत नहीं करते,
बहुत हौसला चाहिए बर्बाद होने के लिए ।

मैं कभी बुरा नहीं था उसने मुझे बुरा कह दिया
फिर मैं बुरा बन गया ताकि उन्हें कोई जुठा न कह सके

तलवार कि धार से ज्यादा हमारी जुबान चलति हें
मौत का ख्वाब क्या दिखाता हे वो तो खुद हमसे डरती हे

रानी की ख्वाइश पूरी करने की भी बादशाह की एक हद होती है
अपनी रानी पर सबकुछ लूटा दे तो वो बादशाह नहीं बेगम का गुलाम कहलाता है