लिखा था राशि में आज खजाना मिल सकता हे
की अचानक गली में दोस्त पुराना दिख गया

मेरा गुस्ताख़ दिल तेरी ज़रा बदमाश सी आंखें
अभी भी प्यार करने की बहुत वज़हें बची हैं
G.R..s

मेरा हर लम्हा चुराया आपने; आँखों को एक ख्वाब देखाया आपने; हमें ज़िन्दगी दी किसी और ने; पर प्यार में जीना सिखाया आपने!

करो अगर प्यार तो धोखा मत देना; चाहने वालों को दर्द का तोहफा मत देना; आपकी याद में दिल से रोता हो जो वो; प्यार में उसको कभी धोखा मत देना।

बरसात की जरूरत हर रेगिस्तान को होती है
सितारों की जरूरत हर आसमान को होती है
आप हमें भूल मत जाना क्युँकी सच्चे प्यार की जरूरत हर इन्सान को होती है

हद हो गई इंतजार की
ऐसी की तेसी ऐसे प्यार की

सिकंदर तो हम अपनी मर्जी से हें,
पर हम दुनिया नहीं दिल जीतने आये हें..

प्यार कहाँ किसी का पूरा होता है; प्यार का तो पहला अक्षर ही अधूरा होता है।

माना की तु किसी बेगम से कम नही
but तेरी baat में तब तक dum नहीं
जब तक तेरे बादशाह हम नहीं

दिल मजबूर हो रहा है तुम से बात करने को
बस ज़िद ये है कि इस सिलसिले का आग़ाज़ तुम करो

तेरे दीदार की तलाश में आते है तेरी गलियों में ...
वरना आवारगी के लिए पूरा शहर पड़ा हे ।

मुझे न सताओ इतना कि मैं रूठ जांऊ तुमसे! मुझे अच्छा नहीं लगता अपनी साँसों से जुदा होना!

हमारी सोच और लोगो कि सोच मे बस ईतना हि फर्क हे के
वो सरकारी आदमी बनना चाहते हे और हम सरकार

मेरी काबिलियत को तुम क्या परखोगे ए गालिब
इतनी छोटी सी उमर मेँ ही लाखो दुश्मन बना रखे हैं

तुमने कहा था हर शाम तेरे साथ गुजारेगे,
तुम बदल चुके हो या फिर तेरे शहर में शाम ही नहीं होती?